द्वारा प्रसिद्ध व्यक्तियों का राशिफल खोजे

अटल बिहारी वाजपेयी दशा फल राशिफल

अटल बिहारी वाजपेयी Horoscope and Astrology
नाम:

अटल बिहारी वाजपेयी

जन्म तिथि:

Dec 25, 1924

जन्म समय:

5:45:00

जन्म स्थान:

Gwalior (MP)

रेखांश:

78 E 9

अक्षांश:

26 N 12

टाइम ज़ोन:

5.5

सूचना स्रोत:

The Times Select Horoscopes

एस्ट्रोसेज रेटिंग:

सटीक (स.)


अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश जन्म से November 30, 1932 तक

आर्थिक रूप से यह उत्तम समय रहेगा। नफा के सौदा से काफी लाभ होगा। परिस्थितियों और योजनाओं की गहरी समझ के कारण अटल बिहारी वाजपेयी दूसरों को आसानी से कोई बात मनवा सकेंगे। इस अवधि में अटल बिहारी वाजपेयी काफी प्रसिद्ध रहेंगे। परिवार के सदस्यों का अटल बिहारी वाजपेयी के प्रति बहुत अच्छा बर्ताव रहेगा। पुराने ऋण इत्यादि की वसूली भी हो जायेगी। इस काल में भ्रमण से काफी लाभ मिलेगा। अटल बिहारी वाजपेयी की प्रकृति दार्शनिक और गम्भीर हो जायेगी। गूढ़ विज्ञान में अटल बिहारी वाजपेयी की रूचि बढ़ेगी तथा हो सकता है अटल बिहारी वाजपेयी को परामनोवैानिक अनुभव भी प्राप्त हो।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 1932 से November 30, 1939 तक

अटल बिहारी वाजपेयी अपने काम बुद्धिमानी से नहीं निपटायेंगे। वैसे इस पूरी अवधि में अटल बिहारी वाजपेयी आशावादी रहेंगे। संचार द्वारा प्राप्त समाचार से लाभावत होंगे। अचानक यात्रा करने से भी अच्छे फल निकलेंगे। आमदनी में इजाफा होगा। पारिवारिक जीवन पर राहतकारी प्रभाव पड़ेगा। अगर पदोन्नति होने वाली है तो जैसी अटल बिहारी वाजपेयी चाहेंगे वैसी ही होगी। मित्र मंडली बढ़ेगी। दिमाग का अध्यात्म के प्रति झुकाव बढ़ेगा। वास्तव में यह अटल बिहारी वाजपेयी के लिये एक सौभाग्यशाली समय है।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 1939 से November 30, 1959 तक

इस अवधि में अटल बिहारी वाजपेयी सुखी व सानन्द रहेंगे। अटल बिहारी वाजपेयी के चारों ओर का वातावरण सुखद होगा। स्त्री वर्ग की ओर अटल बिहारी वाजपेयी का झुकाव रहेगा। वैवाहिक सुख भोगेंगे। अगर अटल बिहारी वाजपेयी थोड़ी मेहनत करें तो अपनी आय अटल बिहारी वाजपेयी काफी बढ़ा सकते हैं। अटल बिहारी वाजपेयी एक विशद व शानदार पा देना चाहेंगे। ललितकला, संगीत व साहित्य में अटल बिहारी वाजपेयी की रूचि रहेगी। छोटी मोटी बीमारियां भी अटल बिहारी वाजपेयी को परेशान कर सकती हैं। परिवार जन अटल बिहारी वाजपेयी की पूरी मदद करेंगे।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 1959 से November 30, 1965 तक

घरेलु जीवन सुखद नहीं रहेगा तथा उस पर बहुत ध्यान देना पड़ेगा। यद्यपि अटल बिहारी वाजपेयी की शारीरिक तनाव और बोझ सहने की अच्छी क्षमता है लेकिन परिवार के झंझटों के कारण क्षमता से अधिक कष्ट भोगना पड़ सकता है। भारी आर्थिक हानियां होंगी और सम्पती का क्षय होगा। धन संबंधी मामलों में काफी सचेत रहने की आवश्यकता है। आंखों और मुंह की बीमारी से ग्रसित हो सकते हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 1965 से November 30, 1975 तक

इस अवधि में भी मिले जुले फल मिलेंगे। कई अच्छे अवसर मिलेंगे पर अटल बिहारी वाजपेयी उनका पूरा उपयोग नहीं कर पायेंगे। स्वास्थ्य के कारण परेशान रहेंगे। मित्र, परिवार और सहयोगियों के साथ बर्ताव में सर्तक रहें। यात्राएं सफलदायक नहीं होंगी इसलिये उनसे बचें। मां बाप का रूग्ण स्वास्थ्य चिन्ताग्रस्त रखेगा।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 1975 से November 30, 1982 तक

अटल बिहारी वाजपेयी सावधान रहें क्योंकि अटल बिहारी वाजपेयी की बुद्धि भ्रमित हो सकती है। स्वास्थ्य एवं पारिवारिक सदस्यों के कारण परेशानी होगी। सट्टेबाजी से बचें। कुछ ऐसे खर्चे भी करने पड़ेंगे जो अटल बिहारी वाजपेयी के नियंत्रण से बाहर होंगे। मित्र एवं सहयोगियों से निराशा हाथ लगेगी। यात्रा से थकान होगी।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 1982 से November 30, 2000 तक

इस अवधि में अटल बिहारी वाजपेयी को मिले जुले फल मिलेंगे। वैसे अटल बिहारी वाजपेयी अपने व्यवसाय/व्यापार में अच्छा काम करेंगे। अटल बिहारी वाजपेयी अपने लक्ष्य से भ्रमित नहीं होंगे और एक बार हाथ में लेने के बाद काम छोड़ेंगे नहीं। अटल बिहारी वाजपेयी का निश्चय दृढ़ रहेगा। लेकिन गुरूजनों और माता पिता से संबंध बहुत अच्छे नहीं रहेंगे। कभी कभी अटल बिहारी वाजपेयी तर्क बुद्धि से इतना काम लेंगे कि मामले की तह तक ही न पहुंच पायेंगे। अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व में अहंकार का प्रवेश हो जायेगा। अटल बिहारी वाजपेयी के इस बर्ताव से अटल बिहारी वाजपेयी जनप्रिय नहीं रह पायेंगे। अपनी अन्र्तदृष्टि से अपने अटल बिहारी वाजपेयी को जांचने परखने का प्रयत्न करें।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 2000 से November 30, 2016 तक

इस अवधि के दौरान आय वृद्धि काफी होगी। परिवार के सदस्यों और अन्य लोगों के हित में अटल बिहारी वाजपेयी पैसा रूपया छोड़ने से नहीं हिचकिचायेंगे। अटल बिहारी वाजपेयी जन प्रिय रहेंगे। परिवार के सदस्यों की संख्या में बढोत्तरी हो सकती है। शत्रुओं का पराभव कर सकेंगे। वसीयत से लाभ भी शीघ्र प्राप्त होगा। कला कविता एवम् साहित्य में अटल बिहारी वाजपेयी का शौक बढ़ा चढ़ा रहेगा। अपने रूचि के क्षेत्र में अटल बिहारी वाजपेयी अच्छा काम करेंगे। साधारण तौर पर सब प्रकार का सुख भोगना सुनिश्चित है।

अटल बिहारी वाजपेयी का फलादेश November 30, 2016 से November 30, 2035 तक

इस अवधि में जीवन शक्ति में कमी होने के कारण अटल बिहारी वाजपेयी बेहद अशक्त महसूस करेंगे। फालतू के कामों में अटल बिहारी वाजपेयी अपनी ऊर्जा बर्बाद करेंगे। धन हानि होगी। परिवारजनों की बीमारी अटल बिहारी वाजपेयी की मानसिक शांति भंग कर देगी। व्यय करने की प्रवृति बढ़ेगी। अवांछित स्थान पर अटल बिहारी वाजपेयी को निवास करना पड़ सकता है। लेकिन यह इद्रयातीत अनुभव प्राप्त करने के लिये बुरा समय नहीं है। धार्मिक क्रियाकलापों में कुछ समय बिताने की सलाह दी जाती है। सांसारिक मामलों के लिहाज सेयह श्रेष्ठ समय नहीं है।