chat_bubble_outline Chat with Astrologer

द्वारा प्रसिद्ध व्यक्तियों का राशिफल खोजे

सुधांशु त्रिवेदी दशा फल राशिफल

सुधांशु त्रिवेदी Horoscope and Astrology
नाम:

सुधांशु त्रिवेदी

जन्म तिथि:

Jun 10, 1975

जन्म समय:

00:00:00

जन्म स्थान:

Lucknow

रेखांश:

80 E 54

अक्षांश:

26 N 50

टाइम ज़ोन:

5.5

सूचना स्रोत:

Dirty Data

एस्ट्रोसेज रेटिंग:

अप्रामाणिक स्रोत (अ.स्रो.)


सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश जन्म से October 8, 1981 तक

आर्थिक लाभ के लिये यह समय अच्छा नहीं है। परिवार के सदस्यों के कारण तनाव पैदा हो सकते हैं। छोटी छोटी बातों पर भी झगड़े हो सकते हैं। वाणी पर नियंत्रण रखें वरना परेशानी भुगतेंगे। अवांछित लोगों पर निर्भर रहना पड़ सकता है। व्यापार में घाटे या चोरी के कारण आर्थिक हानि होने की संभावना है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 1981 से October 8, 1999 तक

इस अवधि के दौरान सुधांशु त्रिवेदी का अपने प्रति विश्वास बहुत बढ़ा चढ़ा रहेगा। सुधांशु त्रिवेदी निडर संघर्षप्रेमी और झगड़े झंझट से डरने वाले नहीं होंगे। सुधांशु त्रिवेदी की मेहनत और कर्मठता से व्यापार धंधे में विकास होगा। वरिष्ठ लोगों और सत्ताधारी व्यक्तियों से सुधांशु त्रिवेदी के संबंध मधुर रहेंगे। साथ ही साथ सुधांशु त्रिवेदी के व्यापारिक क्षेत्र में बढ़ोत्तरी होगी। एक सोची हुई यात्रा पूरी करने से असीमित लाभ प्राप्त करेंगे। प्रतिस्पर्धा में विजयी रहकर सुधांशु त्रिवेदी अपने शत्रुओं का पराभव कर देंगे। स्वास्थ्य भी बहुत अच्छा रहेगा।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 1999 से October 8, 2015 तक

इस अवधि के दौरान आय वृद्धि काफी होगी। परिवार के सदस्यों और अन्य लोगों के हित में सुधांशु त्रिवेदी पैसा रूपया छोड़ने से नहीं हिचकिचायेंगे। सुधांशु त्रिवेदी जन प्रिय रहेंगे। परिवार के सदस्यों की संख्या में बढोत्तरी हो सकती है। शत्रुओं का पराभव कर सकेंगे। वसीयत से लाभ भी शीघ्र प्राप्त होगा। कला कविता एवम् साहित्य में सुधांशु त्रिवेदी का शौक बढ़ा चढ़ा रहेगा। अपने रूचि के क्षेत्र में सुधांशु त्रिवेदी अच्छा काम करेंगे। साधारण तौर पर सब प्रकार का सुख भोगना सुनिश्चित है।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 2015 से October 8, 2034 तक

सुधांशु त्रिवेदी की सृजनात्मक क्षमता इस अवधि में छुपी रहेगी और बुद्धि विवेक का भी ह्रास होगा। इस मामलें में अधिक ध्यान देने की जरूरत है जिससे सुधांशु त्रिवेदी सही निर्णय ले सके। सुधांशु त्रिवेदी के बच्चों का स्वास्थ्य अच्छा नहीं रहेगा। मित्र व सहयोगी अपना वचन नहीं निभाएगें। झूठी आशाओं पर निर्भर करना ठीक नहीं। यात्राएं सफलदायक नहीं होगी। आर्थिक समस्याएं दिमागी शांति को भंग करेगी। जोखिम उठाने वाली प्रवृतियों पर पूरी तरह अंकुश लगाकर रखे।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 2034 से October 8, 2051 तक

इस अवधि में सुधांशु त्रिवेदी के अन्दर बैठी हुई व्यवसाय कि सहज योग्यता विकास प्राप्त करेगी। सुधांशु त्रिवेदी की व्यवहार बुद्धि और समीक्षात्मक दृष्टि चैतन्य रहेगी। सुधांशु त्रिवेदी बहुत सलीके से काम करेंगे। सुखी रहेंगे और साधारण तौर पर प्रसन्नता प्राप्त होगी। अपनी कर्मठता से सुधांशु त्रिवेदी बहुत लाभ उठायेंगे। पारिवारिक वातावरण सौमनस्यपूर्ण रहेगा। माता पिता से संबंध मधुर रहेंगे। विलास सामग्री पर व्यय करेंगे। संचार माध्यम से शुभ समाचार प्राप्त होंगे। शुभ संस्कार भी मनाया जा सकता है।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 2051 से October 8, 2058 तक

इस अवधि के दौरान वैचारिक स्पष्टता का अभाव रहेगा। साधारण रूप से प्रसन्नता नहीं मिलेगी। पारिवारिक वातावरण भी परेशान रखेगा। छोटी छोटी बातों पर झगड़ें और विवाद हो सकते हैं। व्यापार धन्धा भी मन्दा चलेगा। अगर नौकरी करते हैं तो नौकरी के हालात भी संतोषप्रद नहीं होंगे। इस अवधि में सुधांशु त्रिवेदी के शीघ्र व्याधिग्रस्त होने की प्रवृति रहेगी। परिवारजनों की बीमारी चिन्तित रखेगी। वैसे सुधांशु त्रिवेदी का मन धार्मिक क्रिया कलाप की ओर झुका रहेगा और सुधांशु त्रिवेदी पवित्र स्थलों की यात्रा करेंगे।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 2058 से October 8, 2078 तक

इस अवधि में वासनापटक विचार सिर्फ सुधांशु त्रिवेदी को अवसादित ही नहीं करेंगे जलील भी करवा सकते हैं। स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं के कारण सुधांशु त्रिवेदी की नित्यचर्चा में भी व्यवधान उपस्थित हो जायेगा। वैसे नौकरी के हालात अच्छे रहेंगे। यद्यपि काम का बोझ थकाने वाला होगा। स्त्री वर्ग से सुधांशु त्रिवेदी का व्यवहार मधुर नहीं रह पायेगा। विरोधी प्रबल होंगे। विपरीत परिस्थितियों में प्रतिरोधात्मक शक्ति का विकास प्राप्त करने का प्रयत्न करें। भारी व्यय होने की भी संभावना है।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 2078 से October 8, 2084 तक

इस अवधि में सुधांशु त्रिवेदी को मेहनत करनी पड़ेगी जो सुधांशु त्रिवेदी कर नहीं पायेंगे। लगातार किया गया कड़ा परिश्रम थका भी शीघ्र देगा और कार्य क्षमता भी कम हो जायेगी। बुरे कार्यों में प्रवृती रहने की सुधांशु त्रिवेदी की चेष्टा रहेगी। मां बाप का बुरा स्वास्थ्य चिन्ताग्रस्त रखेगा। कार या कोईवाहन बहुत तेजी से न चलाएं।

सुधांशु त्रिवेदी का फलादेश October 8, 2084 से October 8, 2094 तक

यह बहुत अच्छा समय है। सुधांशु त्रिवेदी सुखी और विलासपूर्ण जीवन व्यतीत करेंगे। विलास सामग्री पर भी खर्च करेंगे। मां बाप से संबंध बहुत मधुर रहेंगे। अगर नौकरी करते हैं तो पदोन्नति प्राप्त करेंगे। शत्रुओं पर विजय पायेंगे। आमदनी में काफी इजाफा होगा।